« आजमनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत आलमपुर गांव में मजदूरी करने के दौरान सर्पदंश का शिकार हुआ युवक,जहरीला सांप लेकर इलाज के लिए पहुंचा अस्पताल « डगरा पुल और जर्जर सड़क का बीडीओ ने किया निरक्षण « कटिहार में एक विधवा महिला मांग रही है इंसाफ,गाँव के एक युवक पर दुष्कर्म का आरोप। « बिजली की लचर व्यवस्था को लेकर सड़क जाम कर लोगो ने बिजली विभाव के खिलाफ किया प्रदर्शन « कटिहार के बलरामपुर थाना क्षेत्र के आदर्श मध्य विद्यालय बलरामपुर के कम्प्यूटर कक्ष के मुख्य दरवाजे के ताला काटकर स्कूल में की चोरी « जमीन ब्रोकर मनीष ठाकुर की गोली मारकर हत्या « इंडिया गठबंधन के सभी दलों ने सरकार के खिलाफ निकाला प्रतिरोध मार्च « नीतीश कुमार के जैसा नेता आजादी के बाद ना पैदा हुआ है और ना ही पैदा होगा-इर्शादुल्ला । « कटिहार में बाढ़ सुखाड़ को लेकर अनुश्रवन समिति की बैठक,जिला प्रभारी मंत्री के साथ सांसद विधायक रहे मौजूद « जो दो बच्चे से अधिक पैदा करते है वो देश का नहीं खुद का ख्याल रखते हैं-नीरज सिंह बब्लू प्रभारी मंत्री।
«Back
रक्त रंजिश और गोलियों की आवाज से थर्राता था दियारा,आज तरबूज की खेती से बन रही अलग पहचान।
  • General
  • 2024-06-11 14:37:51
  • सैयद शादाब आलम

रक्त रंजिश और गोलियों की आवाज से थर्राता था दियारा,आज तरबूज की खेती से बन रही अलग पहचान।

बिहार के कटिहार में दियारा के दरिंदों ने कभी इस इलाके को रक्तरंजित कर दिया था,यहां किसानों को खेती करना तो दूर यहां लोग आने-जाने में भी कतराते थे, लेकिन वक्त ने ऐसी करवटबदली की यहां के लोग अब आने जाने के साथ इस इलाके में सबसे ज्यादा उपज होने वाली तरबूज की खेती भी कर रहे हैं, कटिहार के गंगा दियारा इलाके के एक खूबसूरत तस्वीर सामने आई है जहां किसान लाखों रुपया लगाकर अपने खेती की फसल का इस्तेमाल खुद नहीं कर पाते थे, लेकिन अब हालात कुछ और हैं, यह तस्वीर इसलिए भी सुकून देने वाली है क्योंकि इससे किसानों के रोजगार में इजाफा हो रहा है । कटिहार के मनिहारी अनुमंडल का बड़ा इलाका गंगा नदी के द्वारा क्षेत्र से जुड़ा है और इन दिनों यहां के लाल तरबूज किसनो के लिए रोजगार का एक बड़ा माध्यम बना हुआ है। इस इलाके में खेती करने वाले किसान दबी जुबान में कहते हैं कि पहले तरबूज की खेती के लिए अपराध के गढ़ वाले दियारा में अपराधियों को रंगदारी टैक्स देना पड़ता था, लेकिन अब ऐसे हालात नहीं है, अब पुलिस प्रशासन की मुस्तादी के कारण दियारा के किसान बड़े पैमाने पर खेतों में तरबूज की उपज कर बिहार के अलावा झारखंड और बंगाल के साथ कई राज्यों तक तरबूज बेचकर मालामाल हो रहे हैं, अपराध के गढ़ वाले दियारा में पुलिस की मुस्तादी से लाल तरबूज के किसानों के जीवन में मिठास घोल रही है,किसान कहते है कि दियारा के इलाके में खेती करना कभी उनके लिए काफी मशक्कत भरा होता था लेकिन अब पुलिस की मदद मिली और अब इलाके के लोग खेती कर सम्पन्न हो रहे हैं।

Recent News

आजमनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत आलमपुर गांव में मजदूरी करने के दौरान सर्पदंश का शिकार हुआ युवक,जहरीला सांप लेकर इलाज के लिए पहुंचा अस्पताल
2024-07-23 17:16:31
 
डगरा पुल और जर्जर सड़क का बीडीओ ने किया निरक्षण
2024-07-23 17:10:15
 
कटिहार में एक विधवा महिला मांग रही है इंसाफ,गाँव के एक युवक पर दुष्कर्म का आरोप।
2024-07-23 17:00:29
 
बिजली की लचर व्यवस्था को लेकर सड़क जाम कर लोगो ने बिजली विभाव के खिलाफ किया प्रदर्शन
2024-07-23 14:49:01
 
कटिहार के बलरामपुर थाना क्षेत्र के आदर्श मध्य  विद्यालय बलरामपुर के कम्प्यूटर कक्ष के मुख्य दरवाजे के ताला काटकर स्कूल में की चोरी
2024-07-23 14:36:02