June 14, 2021

कोरोना संकट काल में मरीजों का लाइफलाइन बना कटिहार मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल 

बिहार डेस्क [एक्सप्रेस भारत ]_कोरोना महामारी के इस संकट के दौर में कटिहार एवं आसपास के जिलों के लिए केएमसीएच लाइफ लाइन है।कोरोना पीड़ितों का इलाज के अलावे अन्य तमाम बीमारियों यथा गाइनी अर्थो पीडिएट्रिक्स सर्जरी स्किन आदि बीमारियों का इलाज सावधानी के साथ किया जा रहा है।इस मुश्किल हालात में कुछ लोग कोरोना पीड़ित को लेकर सीधे केएमसीएच जा रहे हैं जहाँ यह परेशानी पैदा हो रही है कि अन्य बीमारी से पीड़ित लोगों में संक्रमण न फैल जाए।विदित हो कि सिविल सर्जन के निर्देशानुसार कोरोना पेशेंट को कटिहार सदर अस्पताल द्वारा ही केएमसीएच में बनाए गए कोविड वार्ड में भेजा जा रहा है न कि केएमसीएच सीधा किसी कोविड पेशेंट को रख सकता है।यह सरकार का ही बनाया हुआ नियम है,लोग जानकारी के अभाव में केएमसीएच में कोविड मरीज को लेकर भटक रहे हैं।दोस्तों जब आप कोविड पेशेंट को अन्य बीमारियों से पीड़ित व्यक्ति के पास ले कर जाएंगे तो हालात क्या होगा आप खुद ही अनुमान लगाइए।आज इस महामारी में देश की तमाम सरकारी स्वास्थ्य संस्थाएं दम तोड़ दी है जबकि हमारी 140 करोड़ जनता के द्वारा दिए गए तरह तरह का टैक्स के पैसे से सरकारी हॉस्पिटले चलती है।तब यह हालत है। दोस्तों हॉस्पिटल में मौत और जिंदगी का फैसला तो भी ईश्वर ही करता है।कोई भी डॉक्टर अपने समझ से किसी मरीज का गलत इलाज नहीं करता है हमेशा यह प्रयास करता है कि हमारा इलाज बिल्कुल सफल हो यह उसके लिए चुनौती होती है हाँ कुछ कोमर्सियल हॉस्पिटल की बात अलग हो सकती है ,केकेएमसीएच में आज आपके लिए एमआरआई सीटी स्कैन अल्ट्रासाउंड एक्सरे आदि तमाम जाँच 50 प्रतिशत का छूट पर किया जाता है और साथ ही मरीज को भोजन भी दिया जाता है,बाजार में एमआरआई जाँच में जहाँ 8 से 10 हजार तक लगता है वहीं केएमसीएच के अंदर 4 हजार में होता है।मेरी जनकारी के अनुसार मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल को सरकार की ओर से कोई अनुदान नहीं मिलता है जो भी स्वास्थ्य सुविधाएं या मरीज को भोजन दिया जाता है वो सब खुद केएमसीएच प्रबंधन ही खर्च करती है।मेडिकल कॉलेज में छात्रों का फीस भी सरकार द्वारा निर्धारित होती है।आज देश में 60 फीसदी प्राईवेट मेडिकल कॉलेज है जिसके कारण कटिहार में सौ दो सौ डॉक्टर हैं अन्यथा आज स्थिति और भयावह होती।कोरोना महामारी में भी पिछले वर्ष की तरह ही केएमसीएच मैनेजमेंट अपना कर्तव्य निभा रही है।जिसके लिए धन्यवाद के पात्र है।
Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.